NSS Report of 2018 -2019

श्रीमती बिंझानी महिला महाविद्यालयमहल नागपुर के राष्ट्रीय सेवा योजना की प्रभारी प्राध्यापिका श्रीमती अंजु शरण द्वारा आयोजित सात दिवसीय रहिवासी शिविर ( १० फ़रवरी से १६ फ़रवरी २०१९ )का आयोजन कातला बोडी, बाज़ार गाँव के औरापार्क नागपुर में किया गया था जिसका आह्वल नीचे दिया जा रहा है I

अहवाल

दिनांक १०.०२.२०१९ को रास्ट्रीय सेवा योजना के अंतर्गत छात्राओं का कैंप लेकर बाज़ार गाँव के पास स्थित कातला बोडी गाँव के औरापार्क के लिए दोपहर में रवाना हुए Iवहीं बस द्वारा पहुँच कर शाम में चाय – नाश्ता कर , रहने का इंतजाम किया गया I

सुबह उठकर दैनिक कार्यक्रमों से निवृत होकर औरा चाय लेकर फिर प्रार्थना एवं योग –व्यायाम की जाती थी I१० बजे तक नाश्ता किया जाता थाI पुनः १० बजे से दिन के १बजे तक श्रमदान कार्य किये जाते थे I ०१ से ०२ बजे तक दिन में खाना एवं विश्रांति एवं पुनः ब्याख्यान का आयोजन i शाम में चाय के बाद रात्रि में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन तथा अतिथी ब्याख्यान रखा जाता था i पुनः रात्रि भोजन एवं विश्राम I


इन सात दिनों में शिविर में प्रतिदिन के कार्यक्रमों में योग-व्यायाम ,स्वच्छता-अभियान,साफ़ -सफाई ,बागवानी-बीजारोपण कार्यों की शिक्षा आदि कार्य किये गए ! गाँव में कुआँ –निर्माण में भी छात्रों ने सहयोग दिया ! गाँव के बाल-वाड़ी में शिक्षा दी गई जिसमें छात्राओं का उत्साह सराहनीय रहा 1 सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन एवं तैयारी कर स्कूल के बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम पेश किये गए I स्कूली बच्चों को शिक्षित करने के साथ –साथ खेल-कूद प्रतियोगिता भी करवाई गयी और उन्हें मेहंदी लगाना,रंगोली बनाने की कला भी सिखाई गई !

अतिथी ब्याख्यान के तहत प्रो. अमर दामले ने आधुनिक शिक्षण प्रणाली एवं मनोवैज्ञानिक पहलुओं पर अपने विचार व्यक्त किये ! प्रो. दीपश्री पाटिल ने सुर –संगीत की बारीकियों से अवगत कराया एवं कुछ रागों को गाकर बताया !डॉ. राजश्री गजघाटे ने शिविर अनुशाशन की शिक्षा दी !डॉ. शुभांगी कुकेकर ने स्वयं –रोजगार की जरूरत औरआवश्यकता पर प्रकाश डालकर अपने पांव पर खड़े होने की जानकारी प्रदान की! डॉ. धीरडे ने व्यायाम के फायदे और नुस्खे बताये ! इन सभी लोगों की को मैं तहे दिल से धन्यवाद देती हूँ !

गाँव में रक्तदान शिविर और नेत्र जाँच शिविर का आयोजन कर मरीजों को चश्मे का नंबर प्रदान कर चश्मे भी दिए गए ६५ लोगों ने आँखों की जाँच करवाई ! १२ लोगों ने रक्तदान किया जिसमे तीन बोतल खून उपयोगी रहे !

औरा पार्क के कार्यकर्ताओं श्री घटाटे ,श्री शेरेकर ने विरल पोधों (Rare plants ) की महत्वपूर्ण जानकारीयों से छात्राओं को अवगत कराया I कामयाब फाउंडेशन के श्री हितेश डोर्लिकर और गिरहे मैडम ने स्त्री –स्वास्थ्य एवं स्वच्छता पर जरूरी जानकारी प्रदान की ! संध्या के समय विभिन्न गोष्ठियों का आयोजन ,विचार-विमर्श कर अपने मत प्रकट किये जाते थे ! छात्राओं के लिए घर से दूर रहकर नए वातावरण का अनुभव काफी सीखने योग्य था जिसमें उन्होंने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया I जंगल सफारी कर छात्राओं ने उत्साह एवं ख़ुशी का अनुभव किया I

शिविर के अंतिम दिन गांववालों तथा गाँव के सरपंच को आमंत्रित कर उनका आभार प्रदर्शित किया साथ ही उन्होंने भी हमारे कार्यों की सराहना की Iभविष्य में भी ऐसे आयोजनों में पूर्ण सहयोग देने का वादा किया I हंसी-ख़ुशी के वातावरण में ग्रामीण आबो-हवा की ख़ुशी छात्राओं के चेहरों पर साफ़ झलक रही थी I

इस सात दिवसीय रहिवासी शिविर के आयोजन में मेरी सहयोगी डॉ. श्रीमती वासंती निचकवडे का सहभाग रहा I प्राचार्य डॉ. लता गजभिये के मार्गदर्शन एवं प्रोत्साहन की मैं आभारी हूँ Iउपप्राचार्य डॉ. मराठे के सहयोग और प्राध्यापकों तथा कर्मचारी वर्ग के सहयोग का धन्यवाद I

श्रीमती अंजु शरण
प्रभारी प्राध्यापक
एन.एस .एस